बिहार फसल विविधीकरण योजना: आंवला नींबू बेल और कटहल की खेती करने पर किसानों को सब्सिडी

Bihar Fasal Vividhikaran Yojana: भारत सरकार और भारत की राज्य सरकारों के द्वारा किसानों की आय बढ़ाने के लिए तरह-तरह की योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। जैसे कि अभी हाल ही में बिहार राज्य सरकार ने अपने राज्य की किसानों के हित मे बिहार फसल विविधीकरण योजना 2024 को शुरू किया है। जो कि किसानों के लिए काफी महत्वाकांक्षी योजनाओं के से एक है।

बता दे कि बिहार फसल विविधीकरण योजना के अंतर्गत बिहार राज्य सरकार किसानों को शुष्क बागवानी करने के लिए 50% की सब्सिडी उपलब्ध करा रही है। ताकि किसानों की आर्थिक स्थिति को सुधारा जा सकें। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में बिहार फसल विविधीकरण योजना (Bihar Fasal Vividhikaran Yojana) से जुड़ी सभी जानकारी शेयर करने जा रहे है। तो अगर आप बिहार राज्य के किस नागरिक है तो आपको इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ना चाहिए। तो आइए जानते हैं –

Contents show

बिहार फसल विविधीकरण योजना | Bihar Fasal Vividhikaran Yojana

बिहार राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई बिहार फसल विविधीकरण योजना कभी महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार उन किसानों को सब्सिडी प्रदान कर रही है। जो किसान फलदार पौधे जैसे नींबू, आमला, बेल, कटहल की खेती करते है। राज्य सरकार इस तरह की फसल करने वाले किसानों को 50% की सब्सिडी प्रदान कर रही है।

बिहार फसल विविधीकरण योजना आंवला नींबू बेल और कटहल की खेती करने पर किसानों को सब्सिडी

बिहार फसल विविधीकरण योजना 2024 (Bihar Fasal Vividhikaran Yojana) के अंतर्गत दी जाने वाली सब्सिडी राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में डीवीडी के माध्यम से ट्रांसफर की जाएगी। बता दें कि इस योजना का संचालन बिहार सरकार उद्यान निदेशालय कृषि विभाग के द्वारा किया जा रहा है। इसी विभाग की मदद से किसानों को सब्सिडी राशि उपलब्ध कराई जाएगी।

बिहार राज्य में किस नागरिक है और फलदार फसल की खेती करते हैं तो आप नवंबर 2024 तक इस योजना में आवेदन करके राज्य सरकार के द्वारा दी जा रही इस योजना के अंतर्गत 50% की सब्सिडी राशि प्राप्त कर सकते हैं। बाकी आवेदन प्रक्रिया और जरूर दस्तावेज पात्रता जैसी जानकारी हमारे इस आर्टिकल में नीचे उपलब्ध कराई गई है।

किसानों को कितनी सब्सिडी मिलेंगी

Bihar Fasal Vividhikaran Yojana के अंतर्गत राज्य सरकार शुष्क खेती करने वाले किसानों को 50% सब्सिडी प्रदान कर रही है। इसे सरल भाषा मे समझे तो अगर कोई किसान फलदार पौधे जैसे नींबू, आमला, बेल, कटहल की खेती करता है तो उस किसान को इस योजना के खेती में आने वाली लागत का 50% पैसा सरकार सब्सिडी के रूप में किसान को उपलब्ध कराएगी।

बता दे कि इस योजना के तहत किसानों को कम से कम पांच पौधों से लेकर चार हेक्टेयर की खेती करने पर ही सब्सिडी दी जाएगी। इसके अलावा आपको बता दें की योजना के अंतर्गत प्रति हेक्टेयर अम्ल और नींबू के 400 पौधे बल और कटहल के 100 पौधे ही किसान लगा सकते हैं।

किन किसानों को मिलेगा बिहार फसल विविधीकरण योजना का लाभ

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि बिहार फसल विविधीकरण योजना 2024 का लाभ बिहार राज्य के सभी किसानों को नही दिया जाएगा। इस योजना में मात्र 7 जिलों को शामिल किया गया है। जहां पर मानसून के दौरान बारिश कम होती है। बाकी बिहार फसल विविधीकरण योजना में शामिल जिलों की सूची आप नींचे देख सकते है-

  • गया
  • जमुई
  • मुंगेर
  • नवादा
  • औरंगाबाद
  • कैमूर
  • रोहतास

बिहार फसल विविधीकरण योजना का लाभ एवं विशेषताएं | Benefits and features of Bihar Crop Diversification Scheme

  • बिहार फसल विविधीकरण योजना को बिहार राज्य सरकार के द्वारा शुरू किया गया है।
  • योजना के अंतर्गत किसानों को नींबू, आमला, बेल, कटहल की खेती करने पर राज्य सरकार की तरफ से ₹50000 की सब्सिडी दी जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत किसानों को फसल की कुल लागत का 50% या अधिकतम ₹50000 प्रति हेक्टेयर दिया जाएगा
  • इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सब्सिडी राशि सीधे किसान लाभार्थी के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी
  • इस योजना को 7 जिलों में शुरू किया गया है।
  • इस योजना के शुरू होने से किसानों की आय में वृद्धि होगी।
  • जो भी किसान इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं वह 24 नवंबर 2024 तक इस योजना में आवेदन कर सकते हैं

बिहार फसल विविधीकरण योजना के लिए जरूरी दस्तावेज | Documents required for Bihar Crop Diversification Scheme

अगर आप बिहार फसल विविधीकरण योजना का लाभ लेना चाहते है. तो आपके पास नीचे दिए गए दस्तावेज होना अनिवार्य है. जिनकी जरूरत आवेदन फॉर्म भरते समय पड़ेंगी।

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • भूमि से संबंधित दस्तावेज
  • बैंक खाता पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

बिहार फसल विविधीकरण योजना के लिए पात्रता | Eligibility for Bihar Crop Diversification Scheme

बिहार फसल विविधीकरण योजना का लाभ किन किसानो को दिया जायेगा? कि पात्रता निर्धारित की गयी है उसके कुछ महत्वपूर्ण बिन्दु नीचे दिए गए है. जिनको आपको एक बार जरूर पढ़ लेना चाहिए।

  • बिहार फसल विविधीकरण योजना में आवेदन करना वाला किसान बिहार राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • जमुई, मुंगेर, नवादा, औरंगाबाद, कैमूर और रोहतास जिले के किसान ही इस योजना में आवेदन कर सकते हैं.
  • इस योजना में राज्य के छोटे एवं सीमांत किसान ही आवेदन कर सकते हैं.
  • इस योजना के लिए 5 पौधों और अधिकतम 4 हेक्टेयर में खेती करने वाले किसान ही पात्र होंगे।

बिहार फसल विविधीकरण योजना में आवेदन कैसे करें? | How to apply for Bihar Crop Diversification Scheme?

बिहार फसल विविधीकरण योजना के बारे में हम आपको ऊपर लेख में सभी जानकारी दे चुके है. अब अगर आप ऊपर दी गयी जानकारी के अनुसार इस योजना के पात्र है और आपके पास सभी दस्तावेज है और आप बिहार फसल विविधीकरण योजना का लाभ लेना चाहते है तो नीचे दिए गए स्टेप को फॉलो करके बिहार फसल विविधीकरण योजना में आवेदन कर सक सकते है –

  • बिहार फसल विविधीकरण योजना में आवेदन करने के लिए आपको बिहार सरकार उद्यान निदेशालय कृषि विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • ऑफिसियल वेबसाइट के होमपेज पर आपको अलग – अलग कई पेज दिखाई देंगे।
  • इस पेज पर आपको बिहार फसल विविधीकरण योजना का ऑप्शन मिलेगा। उसके नीचे आवेदन करें का विकल्प मिलेगा।
बिहार फसल विविधीकरण योजना
  • इसके ऊपर आपको क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने कुछ नियम और शर्तें ध्यानपूर्वक दिखाई देंगे उन्हें ध्यानपूर्वक पढ़कर एग्री के बटन करना होगा।
  • अब आपके सामने बिहार फसल विविधीकरण योजना फॉर्म खुल जाएगा।

Bihar Fasal Vividhikaran Yojana Related FAQ

बिहार फसल विविधीकरण योजना क्या है?

फसल विविधीकरण योजना को बिहार राज्य सरकार के द्वारा शुरू किया गया है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को शुष्क बागवानी फसल का उत्पादन करने पर 50% की सब्सिडी दी जाएगी।

बिहार फसल विविधीकरण योजना का उद्देश्य क्या है?

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की आय में वृद्धि करना है

बिहार फसल विविधीकरण योजना का लाभ किसे मिलेगा?

इस योजना का लाभ राज्य के किसानों को दिया जाएगा

बिहार फसल विविधीकरण योजना को किन जिलों में शुरू किया गया है?

इस योजना को बिहार को सात जिलों में शुरू किया गया हैम जिसकी पूरी जानकारी ऊपर दी गई है।

बिहार फसल विविधीकरण योजना के अंतर्गत निर्धारित गयी सब्सिडी कितनी है?

इस योजना के अंतर्गत किसानों को 50% की सब्सिडी दी जाएगी

बिहार फसल विविधीकरण योजना में आवेदन कैसे करें?

बिहार फसल विविधीकरण योजना मैं आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया की जानकारी के बारे में स्टेप बाय स्टेप ऊपर बताया गया हैम आप ऊपर दिए गए स्टेप को फॉलो करके इस योजना में आवेदन कर सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हमारे द्वारा आपके लिए बिहार फसल विविधीकरण योजना के संबंध में बताया गया है। यह योजना उन मेघावी छात्रों के लिए बहुत ही लाभकारी साबित होगी। उम्मीद करते हैं कि आपके लिए हमारे इस आर्टिकल में बिहार फसल विविधीकरण योजना के संबंध में बताई गयी सभी जानकारी आपके लिए उपयोगी रही होगी। अगर यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा हो तो कृपया करके अपने सभी जान पहचान के दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर जरूर करें और अगर आप बिहार राज्य सरकार के द्वारा सभी कार्यक्रमों योजना और अन्य सरकारी सेवाओं के संबंध में सभी जानकारी सबसे पहले प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारी वेबसाइट के साथ बने रहिए।

Leave a Comment